.

Friday, July 14, 2017

ग्रीन चाय पीने के फायदे | Benefits Of Green Tea In Hindi

author photo

Benefits Of Green Tea In Hindi (ग्रीन टी पीने के फायदे): चीन और भारत के मूल निवासी ग्रीन टी (Green tea) का इस्तेमाल दुनिया भर में सदियों से अपने स्वास्थ्य लाभों के लिए किया गया है, लेकिन हाल ही में संयुक्त राज्य अमेरिका और इसके अलावा कई देशों में लोकप्रियता प्राप्त कर रही है। ग्रीन टी पीने के फायदों (Benefits Of Green Tea) को आज दुनिया देख रही है|

हरी चाय से जुड़े संभावित स्वास्थ्य लाभ नीचे दिए गए हैं। रक्त और घावों को नियंत्रित करने, पाचन में सहायता, हृदय और मानसिक स्वास्थ्य में सुधार, और शरीर के तापमान को नियंत्रित करने के लिए पारंपरिक चीनी और भारतीय (traditional Chinese and Indian) चिकित्सा में ग्रीन चाय (Green Tea) का उपयोग किया जाता रहा है। हालिया अध्ययन ने हरी चाय को वजन घटाने से लेकर जिगर विकार, टाइप 2 मधुमेह और अल्जाइमर रोग पर सकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। चलिए अब विस्तार से ग्रीन टी के फायदे के बारे में जानते हैं|

green tea peene ke fayde ग्रीन टी पीने के फायदे

ग्रीन टी कैंसर में लाभकारी:


राष्ट्रीय कैंसर संस्थान के अनुसार, चाय में मौजूद पॉलीफेनोल ट्यूमर (Tumor) के विकास को कम करने में मददगार साबित हुआ है, और पराबैंगनी यूवीबी विकिरण (ultraviolet UVB radiation) के कारण होने वाले नुकसान से बचा सकता है। उन देशों में जहां हरी चाय ( ग्रीन टी ) की खपत अधिक है वहां पर कैंसर की दरें कम होती हैं, लेकिन यह सुनिश्चित करना असंभव है कि क्या यह ग्रीन टी ही है जो इन विशेष आबादी या अन्य जीवन शैली कारकों में कैंसर को रोकता है।


शोधकर्ताओं का मानना ​​है कि यह चाय में मौजूद पॉलीफेनोल (polyphenols in tea) का उच्च स्तर है जो कैंसर की कोशिकाओं को मारने और उन्हें बढ़ने से रोक देता है। हालांकि, जिसके द्वारा चाय में कैंसर की कोशिकाओं के साथ संपर्क होता है, यह कैसे काम करता है, यह अभी तक अज्ञात है।

कुछ अध्ययनों ने निम्न प्रकार के कैंसर पर हरी चाय का सकारात्मक प्रभाव पाया गया है:
  •  स्तन 
  • मूत्राशय 
  • डिम्बग्रंथि 
  • कोलोरेक्टल (आंत्र) 
  • एसोफेगल (गले) 
  • फेफड़ा 
  • पौरुष ग्रंथि 
  • त्वचा 
  • पेट

हृदय रोग में लाभकारी:


अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल में प्रकाशित एक 2006 के अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला है कि हरी चाय की खपत कार्डियोवैस्कुलर बीमारी सहित सभी कारणों के कारण मृत्यु दर से संबंधित है। अध्ययन में 1994 से शुरू होने वाले 11 वर्षों के दौरान 40 से 79 वर्ष की उम्र के 40,000 से अधिक जापानी प्रतिभागियों को शामिल किया। जिन प्रतिभागियों ने प्रति दिन हरी चाय का कम से कम 5 कप पिया, उनमें प्रति दिन एक कप चाय से कम पानी पीने वालों की तुलना में मरने का रिस्क कम (विशेषकर हृदय रोग से) था।

ग्रीन टी में कैटेचिन, पॉलीफेनिक यौगिक शामिल हैं, जो कि हृदय सुरक्षा प्रणाली पर कई सुरक्षात्मक प्रभाव डालते हैं।


ग्रीन टी और अल्जाइमर :


सन 2011 में विश्व के शोधकर्ताओं ने एक निष्कर्ष निकाला कि ग्रीन टी या फिर ग्रीन टी या ग्रीन से निकला हुआ ग्रीन टी एक्सट्रेक्ट पीने के बाद ये शरीर में मौजूद मुख्य प्रोटीन में कुछ बदलाव करके अल्जाइमर के रोग में लाभ देता है|

शोधकर्ताओं ने रोगियो पर परीक्षण कर पाया की जब उन्हें ग्रीन टी की बहुत अधिक मात्र दी गयी तब यह लाभकारी था, जबकि रिसर्च करने वाले चाहते हैं कि जब रोगियों को कम मात्र में ग्रीन टी दी जाये तब भी ऐसा रिजल्ट आना चाहिए, इस पर अभी शोध हो रहे हैं|



मोटापा कम करने में:

जैसा की ऊपर बताया गया है की हाल ही में हुए रिसर्च से पता चला है की ग्रीन टी पीने से मोटापा कम होता है, क्यों की यह शरीर के मेटाबोलिज्म को बढाता है जिससे जमा हुआ फैट एनर्जी में बदल जाता है और यही चर्बी  कम होकर आपके शरीर को फिट कर देती है|



त्वचा रोग में लाभकारी:

एक 2007 के अध्ययन ने यह निष्कर्ष निकाला कि ग्रीन टी ने त्वचा विकार जैसे कि सोरायसिस और रूसी (Psoriasis and Dandruff) के लिए एक नए उपचार में काम करता है। सोरायसिस और रुसी के अलावा रोम छिद्रों को खोलने और अधिक पसीना आने जैसी समस्याओ में भी कारगर है|

शोधकर्ताओं ने गंभीर त्वचा रोगों के लिए एक पशु मॉडल का अध्ययन किया है, जो सूक्ष्म, लाल, परतदार त्वचा के पैच के द्वारा विशेष रूप से त्वचा कोशिकाओं की सूजन और कोशिकाओ के अधिक उत्पादन के कारण होता है। हरी चाय से इलाज किए जाने वाले लोगों ने त्वचा कोशिकाओं की धीमी वृद्धि देखी और कोशिकाओं के जीवन चक्र को नियंत्रित करने वाले एक जीन की उपस्थितिपाई है|



टाइप 2 मधुमेह के लिए :

ग्रीन टी और मधुमेह के बीच संबंधों से संबंधित अध्ययन असंगत रहे हैं कुछ लोगों ने हरी चाय पीने वालों के लिए टाइप 2 डायबिटीज़ होने का खतरा कम देखा है| और जो लोग Green tea का सेवन नहीं करते थे  उनके साथ चाय की खपत और मधुमेह के बीच कोई संबंध नहीं मिला। इस प्रकार यह सिद्ध हो चुका है की Green tea पीने से मधुमेह टाइप 2 में लाभ मिलता है|


यादास्त बढ़ाने के लिए :

फलों से लेकर हर सब्जी में अबकीटनाशक का प्रयोग हो रहा है जिसके कारण छोटे छोटे बच्चों में मेमोरी पॉवर कम होती जा रही है, यादास्त कम होने की वजह से बच्चे अच्छा परफॉर्म नहीं कर पाते हैं|

रिसर्च होने पर पता चला है की ग्रीन टी के रोजाना इस्तेमाल से यादास्त बढ़ने में मदद मिली है| एक प्रयोग में पाया गया है कि जिन्होंने रोजाना ग्रीन टी का सेवन किया है उनके दिमाग की शक्ति यानिकि मेमोरी पॉवर ज्यादा पाई गयी है|

कोलेस्ट्रॉल कम करने में सहायक:

जैसा कि आप ऊपर पढ़ चुके हैं कि ग्रीन चाय पीना ह्रदय रोगियों के लिए फायदेमंद रहती है, इसमें मौजूद तत्व दिल को मजबूत बनाते हैं साथ ही रिसर्च से सामने आया है की यह कोलेस्ट्रॉल को कम करने में सहायक है| ग्र्रें चाय हमरे शरीर में मौजूद Bad Cholesterol को कम करता है जो की हमें हानि पहुचता है, इसके साथ ही यह Good Cholesterol में कोई बदलाव नहीं करता है|


Stroke Risk में :

जर्नल ऑफ द अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन में प्रकाशित एक अध्ययन के मुताबिक नियमित रूप से हरी चाय या कॉफी पीने से स्ट्रोक का रिस्क कम हो जाता है। अध्ययन के प्रमुख लेखक डॉ. योशिहिरो कोकुबु ने कहा, "स्ट्रोक जोखिमों पर आप हरी चाय और कॉफी दोनों को पीने से कम लेकिन सकारात्मक बदलाव अपने जीवन शैली में ला सकते हैं , यह पहला बड़े पैमाने पर अध्ययन है


Green Tea Vs Black Tea (Normal Tea):


Green Tea को काली चाय के साथ में अगर compare किया जाये तो ग्रीन टी पीने के बहुत फायदे हैं, चलिए एक नज़र डालते हैं इसपर:

अगर हम बात करें ग्रीन टी में जीरो मात्रा में कैलोरी पाई जाती है, लेकिन यह बिना चीनी की होनी चाहिए| वहीँ काली चाय में उसकी मात्रा के हिसाब से कैलोरी होती है| यही अगर कैफीन की बात की जाये तो green tea में black tea की तुलना में कम कैफीन पाया जाता है|

हरी चाय को दुनिया के सबसे स्वादिष्ट पेय में से एक माना जाता है और इसमें किसी भी चाय के मुकाबले एंटीऑक्सिडेंट की उच्च मात्रा होती है। इसमें कैटेचिन नमक तत्व पाया जाता है, कैटेचिन एंटीऑक्सिडेंट होते हैं जिन्हें सेल क्षति को रोकने में मदद करने के लिए प्रयोग किया जाता है।



ये भी पढ़ें:

आज के इस विशेष article में आपने जाना कि ग्रीन चाय पीने के फायदे (Benefits Of Green Tea In Hindi) क्या होते हैं, आपके लिए इसे हिंदी में अछि तरह समझाया गया है| अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने सम्बन्धियों और मित्रों के साथ शेयर कर सकते हैं|

Tags: green tea benefits in hindi, green chai peene ke kya fayde hain, green tea kya hoti hai, green tea kaise pee jati hai, Green tea ka kya kaam hai, Green tea peene se weight kam hota hai, ग्रीन टी पीने से वजन कैसे कम करें, ग्रीन टी क्या होती है, ग्रीन टी पीने से क्या फायदा है, क्या नुकसान है, ग्रीन टी कैसे पियें.

This post have 0 comments


EmoticonEmoticon

Next article Next Post
Previous article Previous Post

ये भी पढ़ें: