.

Sunday, March 05, 2017

अंकुरित चना मूंग गेंहू खाने के फायदे | Benefit Of Sprouts

author photo

अंकुरित चना और अंकुरित मूंग की दाल को खाना लाभदायक है, यह आपने खूब पढ़ा होगा और सुना भी होगा । हर बार पढ़ने के बाद ये सोचा भी हॉग की कल से अंकुरित चना खाना शुरू करेंगें, लेकिन फिर वही बात । आज के article में मैं आपको अंकुरित चना खाने के फायदे बताऊंगा । अंकुरित अनाज खाने के अनेकों फायदे हैं और बहुत सी बीमारियों में के लाभदायक भी होता है। चलिये आज जानते हैं चना खाने के फायदे क्या हैं|

chana khane ke fayde in hindi, benefits of black chana in hindi

चना खाने के फायदे:


कब्ज में :

अगर आप कब्ज के लिए कोई दवा खा रहे हैं तो आज ही छोड़ दे और रोज़ सुबह उबले हुए चने खाये। चने खाने से कब्ज में बहुत फायदा होता है, क्यों की इसका छिलका पेट की चिकनाई को खत्म करता है और पेट साफ़ करता 

डायबिटीज में :

मधुमेह का रोगी अगर daily चना खाना शुरू कर दे तो वो अपनी blood sugar को बहुत जल्दी काम कर सकता है। इसका प्रक्टिकल मैं अपने घर में कर के देख चूका हूँ। रोज़ शाम या सुबह को उबले चनों में प्याज़, टमाटर, हरी मिर्च, धनिया, नींबू और काला नमक मिलाकर खाएं, और रोटी में भी चने का आटा मिलकर खाएं। इससे आपको डायबिटीज में लाभ मिलेगा।

सेक्स पावर बढ़ाने में:

ज़बरदस्त सेक्स पावर के लिए घोडा प्रतीक माना जाता है, और घोड़े का प्रिय भोजन चना होता है। यह कोई हँसने की बात नहीं, चना खाने से सेक्स पावर में 100% बढ़ोत्तरी होती है। आप लगातार 1 week तक सुबह या शाम को चना खाये फिर result आपके सामने आ जायेगा। तो अगर आप सेक्स पावर बढाना चाहते हैं तो चना खाना शुरू कर दें।


पेशाब के रोगों में:

पेशाब से related बीमारियों में चना खाना लाभदायक होता है। चना पेशाब की जलन को कम करता है। चना खाने के बाद पानी पिए। दिन में एक बार उबले चने और शाम को भुने चने खाने से लाभ दोगुना हो जाता है।

मोटापा कम करे:

चना गेंहू और भीगी हुई मूंग दाल खाने से मोटापा कम होता है। बाजार के सामान न खाए, और दिन में एक बार यानि की सुबह भर पेट उबले चने, या उबली हुई मूंग दाल खाये। इससे आपका मोटापा काम होगा और जमी हुई चर्बी काम हो जायेगी। 

चेहरे पर चमक:

चेहरे का रंग साफ़ करने और खिली हुई स्किन पाने के लिके चना खाने से फायदा होता है। चना कई रोगों में फायदा करता है, यह स्किन से जुडी बीमारियों में बहुत लाभकारी है।

बवासीर में:

अगर कब्ज की शिकायत लगातार बनी ही रहती है तो बवासीर होने का चांस बढ़ जाता है, इसलिए मैदा खाना बंद कर दें। चना से हमें फाइबर मिलता है जो आंतों और पेट को साफ़ करता है और मल के रास्ते को भी दुरुस्त करता है।

हमेशा याद रखे, जितना महीन आपका आटा होगा , वह उतना ही पेट के लिए नुकसान करेगा। महीन आटा आंतों को परेशां करता है और पचाने में दिक्कत पैदा करता है। इसलिए मेरी सलाह है, अपने गेंहू के आटे में 30% चना मिलाकर खाये, इससे डायबिटीज, मोटापा, और कब्ज जैसे रोगों से चुट्की मिलता है।

चना बनाने की विधि :


सामग्री:

  • उबले चने - 150 ग्राम
  • टमाटर - 1 कटा हुआ
  • प्याज़ - 1 कटा हुआ
  • मूंगफली - 20 ग्राम
  • हरा धनियाँ - 1 चम्मच 
  • हरी मिर्च - 4 कटी हुई
  • नींबू - 1
  • काला नमक - स्वादानुसार 

सभी सामग्री को काट लें औरएक बड़े बर्तन में मिला लें , अब इसे धनिया से सजाकर अपने लिए परोसे |

तो आज आपने जाना की अंकुरित चना खाने से क्या फायदे हैं  और अंकुरित मूंग दाल खाने से कुछ लाभ होता है। अगर आप हिंदी भाषा को internet पर famous करना चाहते हैं तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें।

This post have 0 comments


EmoticonEmoticon

Next article Next Post
Previous article Previous Post

ये भी पढ़ें: